यूपी: हैंडपंप पर पानी लेने गई दलित महिला को निर्वस्त्र कर बेरहमी से पीटा

थाने से दुत्कार मिलने के बाद जब पीड़ित महिला ने एसपी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई तो कौशांबी थाने की पुलिस ने उसे फर्जी मुकदमे में फंसाने की नापाक कोशिश की.

कौशांबी

यूपी के कौशांबी में सरकारी हैंडपंप से पानी भरना एक दलित परिवार को मंहगा पड़ गया है. छुआछूत का आरोप लगाते हुए दबंगो ने दलित मासूम और उसकी मां की निर्वस्त्र कर बेरहमी से पिटाई की है.

आरोप है कि जब पीड़ित महिला मामले की शिकायत लेकर थाने पहुंची तो इंस्पेक्टर ने उसे भला बुरा कह कर थाने से भगा दिया. जिसके बाद पीड़ित महिला ने एसपी से मिलकर इंसाफ की गुहार लगाई है.

पारंपरिक सामाजिक ढांचे के अंदर तो दलितों के साथ अन्यायपूर्ण व्यवहार की कहानी सदियों पुरानी है, लेकिन इक्कीसवीं सदी में भी लोग इससे अछूते नहीं है. ऐसा ही एक मामला कौशांबी के लोध पुरवा गांव से सामने आया है, जहां एक दलित बच्चा सरकारी हैंडपंप पर पानी भरने गया तो दबंगों ने उस पर छुआछूत का आरोप लगाते हुए पिटाई कर दी. बेटे को पिटता देख उसकी मां ने जब विरोध किया तो बेखौफ दबंगो ने दलित महिला को भी निर्वस्त्र कर पीटा. जिसके बाद पीड़ित महिला मामले की शिकायत लेकर थाने पहुंची तो पुलिस ने उसे डांटकर थाने से भगा दिया.

थाने से दुत्कार मिलने के बाद जब पीड़ित महिला ने एसपी से मिलकर न्याय की गुहार लगाई तो कौशांबी थाने की पुलिस ने उसे फर्जी मुकदमे में फंसाने की नापाक कोशिश की.

आरोप है कि पुलिस ने पहले तो दलित महिला को थाने में बुलाकर उस पर समझौता का दबाव बनाया. जब महिला ने समझौता करने से मना कर दिया तो पुलिस ने उसके घर में रखा थोड़ा बहुत लहन बरामद कर कच्ची शराब के आरोप में फर्जी मुकदमे में फंसाने की नापाक कोशिश करती है.

फिलहाल मामला मीडिया में आने के बाद एसपी प्रदीप गुप्ता ने सर्किल ऑफिसर को मामले की जांच सौंपते हुए कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

( source time18 )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *