6 लड़कियाँ, 2 कार, चल रहा था देह व्यपार, 7 आरोपी गिरफ्तार

देह व्यपार का रैकेट चलाने वाले कुछ बदमाश ग्रहकों तक पहुंचाने के लिए 2 कार में 6 लड़कियों को लेकर जा रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें धर दबोचा I कैसे हुआ यह सब , जानने के लिए पढ़िए पूरी खबर ….


देहरादून

पुलिस ने देहरादून में चल रहे अवैध देह व्यापार का भांडाफोड़ कर ब्रोकर, और ग्राहक समेत  सात लोगों को गरिफ्तार किया है। पुलिस को सूत्रों से जानकारी मिली थी की कुछ गैंग संगठित रूप से अन्य प्रदेशों की लड़कियों को देहरादून में लाकर उनको होटल और अलग-अलग गेस्ट हाउस में रखते हैं और उनसे देह व्यापार कराते हैं। पुलिस ने शहर में सघन चेकिंग अभियान के दौरान दो गाड़ियों को पकड़कर सात लोगों को गिरफ्तार किया। इनके चंगुल से छह युवतियों को भी मुक्त कराया गया है।

शहर में ऑनलाइन देह व्यापार की सूचना एसओ राजपुर अशोक राठौड़ को मिली थी। इस पर एसएसपी को अवगत कराया गया, एसएसपी ने गिरोह को ट्रैक कर कार्रवाई के डायरेक्शन दिए। इस पर ट्रेनी पीपीएस ऑफिसर दीपशिखा अग्रवाल की मौजूदगी में राजपुर रोड पर किशनपुर पुलिस चेक पोस्ट पर नाकाबंदी कर चेकिंग शुरू की गई। जाखन की तरफ से आ रही दो कारों की तलाशी ली गई तो उनमें से एक कार में दो और दूसरी में चार लड़कियां के साथ दो ड्राइवर, चार ब्रोकर, और एक कस्टमर को पकड़ा। पूछताछ व मोबाइल चेक करने पर उनके आपस में किए गए व्हाट्सएप मैसेजेज, कैश का आन लाइन ट्रांजेक्शन, एक दूसरे को लड़कियों के फोटो भेजने की पुष्टि हुई।जो लड़कियां कार में मिली, ब्रोकर ने उनके फोटो लोगों को भेज रखे थे। मैसेजेज में उन लड़कियों को देह व्यापार के लिए भेजने के बदले रेट भी तय किए गए थे। इस पर पुलिस टीम को यह कन्फर्म हो गया कि ब्रोकर लड़कियों को टैक्सी नंबर की कारों में देह व्यापार के लिए ही डिलीवर करने जा रहे हैं। ऐसे में सभी को थाने लगाया गया।

एसओ राजपुर अशोक राठौड़ ने बताया कि गुप्त सूत्रों से सूचना प्राप्त हो रही थी कि कुछ गैंग संगठित रूप से अन्य प्रदेशों की लड़कियों को देहरादून में लाकर उनको अलग अलग होटल-गेस्ट हाउस आदि में रखकर कस्टमर की डिमांड पर उनको उनके स्थान पर ही छोड़कर अनैतिक देह व्यापार कर रहे हैं। इनका नेटवर्क वर्तमान में दिल्ली से ऑपरेट हो रहा है। इस सूचना के संबंध में एसएसपी को अवगत कराया गया। उन्होंने इसे गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। डिटेल पता करने पर सामने आया कि कस्टमर्स की डिमांड पर होटल्स व गेस्ट हाउस से गाड़ियों से लड़कियों को छोड़ा जाता है। कुछ लोकल टैक्सी ड्राइवर भी मिले हुए है।राजपुर व मसूरी एरिया में अधिक मूवमेंट है।

मंगलवार की  रात पुलिस को सूचना मिली की दो गाड़ियों स्विफ्ट डिजायर व इंडिगो में यह गिरोह लड़कियों को लेकर आ रहे हैं।  जो राजपुर या मसूरी जाएंगे। इस सूचना पर पुलिस टीम द्वारा किशनपुर चेक पोस्ट मसूरी डायवर्जन पर बैरियर लगाकर चेकिंग की तो जाखन की ओर से दो गाड़ियां आती दिखाई दी। जिनको रोककर चेक किया गया तो पहली गाड़ी टाटा इंडिगो में ड्राइवर सहित 4 लड़के तथा दो लड़कियां मिली तथा दूसरी गाड़ी स्विफ्ट डिजायर  में ड्राइवर सहित 3 लड़के व 4 लड़कियां मिली। कार की तलाशी से सेक्स वर्धक कैप्सूल व टैबलेट तथा कंडोम के पैकेट बरामद हुए।

6 लड़कियाँ, 2कार, चल रहा था देह व्यपार, 7 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस गिरफ्त में आए देह व्यापार के सदस्यों के मोबाइल चेक किये गए जिसने इनके व्हाट्सएप पर लड़कियों की तस्वीरें तथा उसका रेट आदि दूसरे नंबर पर भेजना तथा लड़की को किस स्थान पर ड्रॉप करना आदि उसमें लिखा पाया गया। सख्ती से पूछताछ पर लड़कियों ने बताया कि यह सब इनके द्वारा दिल्ली से बुलवाई गयी है। दिल्ली में अमित नाम का व्यक्ति फोन के माध्यम से ही इनको देहरादून में भेजता है। तथा यहां के ब्रोकर इनको कस्टमर तक अनैतिक देह व्यापार के लिए छोड़ते हैं।

पूछताछ पर पीड़िताओं द्वारा बताया कि इनमें से कोई 4 माह कोई 8 माह कोई 10 माह से ब्रोकर्स के चक्कर में हैं। दोस्ती करके प्यार के जाल में फंसाया और यह कहकर कि हम तुम्हारी नौकरी किसी अच्छी कंपनी में लगवा देंगे अलग अलग शहरों जिसमे दो पीड़िता वेस्ट बंगाल से, दो पीड़िता हरियाणा से तथा दो पीड़िता दिल्ली से लेकर सभी को दिल्ली में रखा गया था। यहां कुछ दिन रखने के बाद यह कहकर कि दिल्ली में नौकरी मिलना बहुत मुश्किल है। कुछ और काम किया जाए जिससे मोटा पैसा मिले, चूंकि सभी पीड़िताओं को पैसे की बहुत जरूरत होने के कारण, इनके द्वारा सभी को देह व्यापार के धंधे में उतार दिया गया।

तब से ये इनके चंगुल में फंसकर काम करने लगी, तथा इनके द्वारा कमाई का 25 प्रतिशत पीड़िता को और 75 प्रतिशत यह खुद रखते थे। इनको इंटरनेट के माध्यम से अलग-अलग शहरों में भेजा जाने लगा। एक रात्रि के किसी को 4 हजार, किसी को 5 हजार व किसी को 10 हजार तक  देह व्यापार के लिए भेजा जाता था। दिल्ली में अमित नाम का व्यक्ति इनको शहर बताता था। वहीं व्हाट्सएप के माध्यम से कस्टमर का फोन और एड्रेस दे दिया जाता था और ये लड़कियों को वहां छोड़ आते थे। कस्टमर पैसा ऑनलाइन सीधा अमित को पे कर देता था।

देहरादून मे अभियुक्त  हबीब द्वारा करीब 4 माह पहले निकट शिव मंदिर कारगी चौक पर एक 2 रूम सेट 8000 रुपये प्रति माह किराये पर लिया। लोकल दोनों टैक्सी ड्राइवर्स को अपने साथ पैसों का लालच देकर मिला लिया। अन्य ब्रोकरों को भी यही बुला लिया ।तथा इन लड़कियों को भी दिल्ली से बुलाकर अलग-अलग होटल्स व गेस्ट हाउस में रख दिया। अब कस्टमर की डिमांड पर यह लड़कियों को उनके स्थान पर छोड़ने लगे। कल रात्रि को भी इन लड़कियों को अलग-अलग कस्टमर के पास छोड़ने जा रहे थे कि पकड़े गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *