MP: ढाबा जहां होता था देह व्यपार, 2 नाबालिग, 16 युवतियों, 2 ग्राहक गिरफ्तार

कार्रवाई के दौरान देह व्यापार में लिप्त  16 युवतियों, 2 ग्राहकों और 1 ढाबा मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.  इसके अलावा पुलिस को 2 नाबालिग लड़कियां भी मिली हैं जिनसे जिस्मफरोशी करवाई जा रही थी.


मंदसौर ( मध्यप्रदेश )

मध्यप्रदेश के मंदसौर ( mandsaur) में पुलिस ने ऐसे ढाबों ( dhaba) का पर्दा फाश किया है जहां ढाबों की आड़ में चलता था देह व्यापार (sex racket ) के धंधा . कार्रवाई के दौरान देह व्यापार में लिप्त  16 युवतियों, 2 ग्राहकों और 1 ढाबा मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.  इसके अलावा पुलिस को 2 नाबालिग लड़कियां भी मिली हैं जिनसे जिस्मफरोशी करवाई जा रही थी.  पुलिस ने  गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ देह व्यापार सहित कई धाराओं में मामला दर्ज किया है. फिलहाल पुलिस सभी से पूछताछ में जुटी है.

घटना मंदसौर के सुंठोद गांव की है. जिले की मल्हारगढ़  थाना पुलिस को लगातार सूचनाएं मिल रही थीं कि गांव में बांछड़ा समुदाय के लोग ढाबों की आड़ में अनैतिक रूप से देह व्यापार करवा रहे हैं. पुलिस ने  महिला एवं पुरुष पुलिसकर्मियों की संयुक्त टीमें बनाकर 10 ढाबों पर दबिश दी.

दबिश के दौरान पुलिस ने अलग-अलग ढाबों से देह व्यापार में लिप्त महिलाएं उनके ग्राहक और ढाबा मालिकों को गिरफ्तार किया. पुलिस ने इन ढाबों से दो नाबालिग लड़कियों को भी पकड़ा है, जिनसे देह व्यापार करवाया जा रहा था. पुलिस ने ढाबों से कई आपत्तिजनक चीजें भी बरामद की है.

MP: ढाबा जहां होता था देह व्यपार, 2 नाबालिग, 16 युवतियों, 2 ग्राहक गिरफ्तार

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनकामना प्रसाद ने बताया कि हाईवे पर ढाबों की आड़ में अनैतिक रूप से देह व्यापार करवाया जा रहा था और इसमें नाबालिग लड़कियों को भी शामिल किया गया था. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार अधिनियम 1956 की धारा 3,4,6,7,8 और धारा 370, 372 और 373 में भी मामला दर्ज किया गया है.

परंपरा के नाम पर बांछड़ा समुदाय पीढ़ियों से देह व्यापार का यह अनैतिक कार्य करता चला आ रहा है और इस अनैतिक कार्य में कई नाबालिग लड़कियों को भी झोंका जा रहा है. प्रशासन ने हालांकि कई बार इन लोगों को मुख्यधारा में लाने का प्रयास किया, लेकिन कोई सफलता अभी तक नहीं मिली है. साल 2011 में भी यहां पर पुलिस ने दबिश दी थी और कई नाबालिग लड़कियों को रेस्क्यू कर मानव तस्करी का एक बड़ा खुलासा किया था. पुलिस ने उस समय बांछड़ा डेरा से 70 नाबालिग बच्चियों को मुक्त करवाया था.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *