पुणे: अपने 3 बच्चों के साथ माँ ने लगा ली फांसी–जाने क्यों

मृतकों की नाम फातिमा अकरम बागवान (28), अलीफिया अकरम बागवान (9), जोया अकरम बागवान (7) और जियान अकरम बागवान (6)  है. तीनों बच्चे भोसरी के सावित्रीबाई फुले विद्यालय में पढ़ते थे.

पुणे

पुणे के भोसरी इलाके में एक माँ ने अपने तीन बच्चों को फांसी पर लटकाया और फिर खुद भी फांसी लगा कर जान दे दी। रविवार शाम को हुई इस घटना के बाद से इलाके में सनसनी है। पुलिस के अनुसार, महिला अपने पति के साथ फल बेचने का काम करती थी और उसका अपनी पैसों को लेकर पति से विवाद चल रहा था। फिलहाल मामले में जांच जारी है।

मृतकों की नाम  फातिमा अकरम बागवान (28), अलीफिया अकरम बागवान (9), जोया अकरम बागवान (7) और जियान अकरम बागवान (6)  है. तीनों बच्चे भोसरी के सावित्रीबाई फुले विद्यालय में पढ़ते थे.

खबरों के  मुताबिक, बागवान परिवार मूल कर्नाटक वासी है. इससे पहले यह परिवार तलेगांव दाभाड़े में रहता था, चार दिन पहले ही भोसरी के नूर मोहल्ला में रहने आया था. अकरम बागवान पहले फल बेचने का काम करता था फिलहाल वह कोई काम धंधा की तलाश में था. रविवार की सुबह साढ़े 10 बजे वह काम ढूंढने घर से बाहर निकला. जब शाम को लौटा तब यह पूरा मामला सामने आया.

अकरम ने काफी देर तक दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई प्रतिसाद नहीं मिला. शक होने पर उसने पुलिस को इत्तला दी. पुलिस ने जब दरवाजा खोल कर देखा तब एक कमरे में तीनों बच्चे और दूसरे कमरे में फातिमा फांसी से झूलते नजर आए. फातिमा ने घर की छत के एक हुक में नायलॉन की रस्सी से तीनों बच्चों को फांसी दी फिर दूसरे कमरे में दुप्पटे से फंदा बनाकर खुद भी फांसी झूल गई.

फातिमा ने इतना बड़ा कदम क्यों उठाया, इस बारे में कुछ पता नहीं चल सका है. न उसका लिखा कोई सुसाइड नोट पुलिस को मिला है. पुलिस का मानना है कि, पति के पास कोई कामधंधा नहीं है. शायद इसी निराशा में उसने यह कदम उठाया होगा.

बहरहाल भोसरी पुलिस बागवान के कर्नाटक और पुणे में रहनेवाले उनके रिश्तेदारों और जान-पहचान वालों के आने का इंतजार है. उनसे पूछताछ के बाद ही कुछ ठोस नतीजे पर पहुंचा जा सकेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *