उन्नाव: सामूहिक बलात्कार की पीड़िता द्वरा अपनी मां के साथ कलेक्ट्रेट परिसर में आत्मदाह का प्रयास

माखी थाना प्रभारी राज बहादुर ने शुक्रवार को मीडिया को बताया कि पीड़िता का आरोप है कि आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से क्षुब्ध होकर उसने यह कदम उठाया।


उन्नाव।

भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा नाबालिग से बलात्कार का मामला अभी शांत नहीं हुआ कि सामूहिक दुष्कर्म के एक अन्य मामले को लेकर माखी चर्चा में है।

उन्नाव के माखी थानाक्षेत्र में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार की पीड़िता ने कलेक्ट्रेट परिसर में अपनी मां के साथ आत्मदाह का प्रयास किया।

पीड़िता गुरूवार को अपनी मां के साथ कलक्ट्रेट में आत्मदाह करने पहुंच गई। पुलिस ने दोनों को पकड़ कर उनके हाथ से पेट्रोल भरी बोतल तथा माचिस लेकर उन्हें जिलाधिकारी देवन्द्र पांडेय से मिलाया।  जिलाधिकारी ने माखी थाना प्रभारी को आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं।

माखी थाना प्रभारी राज बहादुर ने शुक्रवार को मीडिया को बताया कि पीड़िता का आरोप है कि आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से क्षुब्ध होकर उसने यह कदम उठाया।

राज बहादुर ने बताया कि माखी थाना क्षेत्र के एक गांव की विवाहिता ने बीती 24 जुलाई को गांव के तीन लोगों के खिलाफ सामूहिक बलात्कार की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

रिपोर्ट में आरोप लगाया गया था कि 17 जुलाई को वह मायके आई थी। माता पिता 19 जुलाई को किसी रिश्तेदार के यहां गये थे।  पीड़ित द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के अनुसार, देर रात आरोपियों ने पिता के सड़क हादसे में घायल होने की झूठी सूचना देकर दरवाजा खुलवाया और उसे बाइक से अगवा कर घर से करीब डेढ किलोमीटर दूर जंगल में ले जाकर उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया।

थाना प्रभारी ने पीड़िता द्वारा लिखायी गई रिपोर्ट के हवाले से बताया कि शोर मचाने पर स्थानीय ग्रामीण वहां पहुंचे तो तीनों आरोपी बाइक से भाग निकले।

माखी पुलिस ने घटना में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जबकि एक अन्य आरोपी ने शुक्रवार को अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया ।राज बहादुर ने बताया कि शेष बचे एक आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *